Toggle Nav
My Cart 0 Item (s)

गंजन यादव

गंजन यादव

गंजन यादव

उम्र 18, बुनकर

गंजन को आर्थिक तंगी के कारण अपनी पढ़ाई दसवीं के बाद ही छोड़नी पड़ी और पिताजी के साथ खेती में हाथ बटाने लगा। उसके परिवार में उसके अलावा उसकी चार बहने भी हैं जिनमे से तीन की शादी हो गयी और एक को वो खूब पढ़ाना चाहता है। इसके लिए उसे खेती के साथ साथ आमदनी का कोई अन्य साधन भी चाहिए था। बस इसी की खोज करते हुए वो हथकरघा प्रशिक्षण केंद्र में वस्त्र उत्पादन का कार्य सिखने पहुच गया और आज वो इस कला में इतना निपुण हो चुका है नौ हज़ार रुपए प्रति माह कमा रहा है। इन पैसों का अधिकांश हिस्सा वो अपनी पारिवारिक जरूरतों को पूरा करने में लगाता है और साथ ही बहन की पढ़ाई का खर्च भी उठाता है।

Items 1-9 of 14

Page
per page
Set Descending Direction

Items 1-9 of 14

Page
per page
Set Descending Direction